Thursday, April 7, 2016

दिल में ही कही हैं

कुछ किस्से कभी बयान नहीं
होते ,कुछ दर्द की जमीन
नहीं होती
धड़कने फिर भी दर्द के
धागे से ही सिली जाती हैं
सुन ,तू दिल में ही कही हैं बाकी
Post a Comment